chhattisgarhhindi newsछत्तीसगढ़राजनीती

हम इस काले कानून को नहीं मानते, सरकार लोगों की आवाज दबाना चाहती है: धरमलाल कौशिक

जेल भरो आंदोलन के तहत भाजपा प्रदेशभर में प्रदर्शन कर रही है. पूर्व सीएम डॉ रमन सिंह जेल भरो आंदोलन के तहत राजनांदगांव पहुंचे, वहीं रायपुर के कालीबाड़ी चौक में विधायक बृजमोहन अग्रवाल के नेतृत्व में भाजपाइयों ने प्रदर्शन किया. नेता प्रतीपक्ष धरमलाल कौशिक बिलासपुर में कार्यकर्ताओं के साथ जेल भरो आंदोलन में शामिल हुए. इस दौरान सभी नेताओं ने कांग्रेस सरकार पर जमकर निशाना साधा.

भाजपा नेताओं की रिहाई पर बृजमोहन अग्रवाल ने बड़ा बयान दिया, और कहा – हम तो जेल जाना चाहते थे, पर सरकार में इतनी हिम्मत नहीं कि हमें जेल भेज दे, सरकार के जेल में इतनी जगह नहीं कि हमें रख सके, यह आन्दोलन आगे भी जारी रहेगा।

पूर्व सीएम डॉ रमन सिंह जेल भरो आंदोलन के कार्यक्रम में शामिल होने राजनांदगांव पहुंचे यहां उन्होंने कहा कि यह आंदोलन प्रदेशभर में चल रहा है सभी अपनी गिरफ्तारी देने पहुंचे हैं. उन्होंने कहा कि कांग्रेस की हालत पुरे हिन्दुस्तान में पतली हो गई है. कांग्रेस का अस्तित्व सिर्फ दो राज्य में सिमट गया है अब उसको बचाने के लिए क्या करना है, उसके लिए पूरी पार्टी दिग्भ्रमित हो गयी है. जनांदोलन पूरी तरह से समाप्त हो गया है. आगे उन्होंने कहा कि कांग्रेस में अगर बघेल जैसे नेता राज करेंगे तो बची हुई सरकारें भी आने वाले समय में समाप्त हो जाएगी.

वहीं नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि हम इस काले कानून को नहीं मानते. सरकार लोगों की आवाज दबाना चाहती है. कांग्रेस सरकार के डेढ़ साल और बचे हैं फिर सरकार की विदाई तय है.

भाजपा के आंदोलन में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक, पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल, मस्तूरी विधायक डॉ. कृष्णमूर्ति बांधी, बेलतरा विधायक रजनीश सिंह, महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष हर्षिता पांडे समेत बड़े नेता शामिल हैं. भाजपाई कांग्रेस सरकार के खिलाफ नेहरू चैक में प्रदर्शन कर कलेक्ट्रेट की ओर बढ रहे, जिन्हें रास्ते में ही पुलिस ने रोका. इस दौरान भाजपाइयों ने प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की.

भारतीय जनता पार्टी प्रदेश आह्वान पर आज कांकेर में भी थाने के सामने जेल भरो आंदोलन किया गया. प्रदर्शन में भाजपा के सांसद मोहन मंडावी, पूर्व सांसद विक्रम उसेंडी, भाजपा जिलाध्यक्ष सतीश लाठिया समेत जिलेभर से भाजपा के कार्यकर्ता शामिल हैं. सांसद मंडावी ने कहा राज्य सरकार हमारे मौलिक अधिकारों का हनन कर रही है. जेल भरो आंदोलन के दौरान भाजपाइयों को रोकने के लिए कई जगहों पर बैरिकेडिंग लगाई गई है. भाजपाइयों को कोतवाली थाना के सामने पुलिसकर्मियों ने रोका, जिसके बाद अस्थाई जेल भेजा गया.

बता दें कि राज्य सरकार के धरना प्रदर्शन को लेकर नई गाइडलाइन के खिलाफ बीजेपी ने सोमवार को हल्लाबोल दिया। राज्यभर में बीजेपी नेता और कार्यकर्ता सड़क पर उतर आए और खूब नारेबाजी करते रहे। इस आंदोलन को बीजेपी ने जेल भरो आंदोलन का नाम दिया है। इसे 2023 विधानसभा चुनाव के तैयारियों से जोड़कर देखा जा रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button