छत्तीसगढ़

बहन की शादी में भाई की करंट से मौत, खलल न पड़े इसलिए बेटी को बताया तक नहीं

दो दिन चला शादी का कार्यक्रम, बेटी की विदाई के बाद परिजनों ने किया बेटे का अंतिम संस्कार

भिलाई। एक भाई अपनी बहन की शादी की तैयारी में दिनभर काम करता रहा। तभी कूलर खिसकाने के दौरान अचानक करंट का झटका लगने से बेहोश हो गया। परिजन उसे अस्पताल ले गए, जहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। परिजनों को पता चला तो उन्होंने इसे बेटी से छिपाने का निर्णय लिया। फिर दो दिनों तक चले शादी के कार्यक्रम के बाद बेटी की बुधवार को विदाई हुई। इसके बाद ही बेटे का अंतिम संस्कार किया गया। ये पूरा वाकया सुपेला इलाके का है।
पुलिस को आवेदन देकर दो दिन बाद पोस्टमार्टम के लिए कहा
लक्ष्मी नगर सुपेला में खिलावन साहू के घर सोमवार से वैवाहिक कार्यक्रम था। उनकी बेटी की शादी थी। सोमवार दोपहर उनका बेटा यागबाल साहू (23) अपने घर में व्यवस्था में लगा हुआ था। वह काफी खुश था। उसकी बड़ी बहन की हल्दी रस्म का कार्यक्रम था। एक कूलर को खिसकाना था। यागबाल ने किसी को कूलर हटाने के लिए आवाज दी। फिर वह खुद ही उसे हटाने के लिए चला गया। जैसे ही यागबाल ने कूलर को हाथ लगाया। उसे जोर का झटका लगा। वह मुर्छित हो गया। परिजनों ने उसे उठाया और तुरंत अस्पताल लेकर गए। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।
अस्पताल में जैसे ही यागबाल की मौत की पुष्टि डॉक्टर ने की परिजन सकते में आ गए। घर में बेटी की शादी थी। पूरे मेहमान आ चुके थे। तब परिवार वालों ने बात घर में नहीं बताने का डिसीजन लिया। उन्होंने सुपेला पुलिस को शव पंचनामा शादी के बाद कराने को लेकर लिखित में आवेदन दिया। फिर घर गए। दो दिनों तक शादी निपटाई। बेटी बिदा करने के बाद उन्होंने इस बात का खुलासा किया कि यागबाल नहीं रहा।
विदाई तक पूछती रही, कहां है मेरा भाई
परिजनों को डॉक्टर से जैसे ही युवक की मौत की खबर लगी। उन्होंने आखरी तक दुल्हन को यह बात नहीं बताई कि उसका छोटा भाई याग बाल की कूलर के करंट से मौत हो गई। दो दिनों तक बहन पूछती रही कि याग बाल कहां है, कैसा है। तो परिजन उसे अस्पताल में होने और ठीक होने का आश्वासन देते रहे। मंगलवार को शादी हुई, दुल्हन बिदा हुई। दूसरे दिन उसे पता चला कि उसका भाई हल्दी के दिन ही खत्म हो गया था।

Tags
Show More

Related Articles

Close