छत्तीसगढ़

रिटायर्ड एएसपी की मां और बहन का बंद कमरे में मिला शव, ओवरडोज दवांई खाने का शक

रायपुर। सरस्वती नगर थाने के कुकुरबेड़ा इलाके में सोमवार सुबह उस समय सनसनी फैल गई जब एक बंद कमरे में मां और बेटी की लाश मिली। दोनों मृतक महिलाएं रिटायर्ड अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (एएसपी) वीके उइके की मां और बहन हैं। बताया जा रहा है श्री उइके की मां पदमावती (83) और बहन हितेंद्री कुमारी (55) ऊपर अकेले रहती थीं। दोनों ही मानसिक रूप से बीमार थी जिनका इलाज भी चल रहा था। हालांकि प्रथमदृष्टा में दवांओं के ओवरडोज से मौत की आशंका जताई जा रही है।
रिटायर्ड अधिकारी उइके का कुकुरबेड़ा में दो मंजिला मकान है जिसमें नीचे वह अपने परिवार के साथ रहते हैं वहीं ऊपर वाले हिस्से में उनकी मां और बहन रहते हैं। शनिवार को नौकरानी ने उन्हें दवाई और खाना देकर चली गई थी। इसके बाद रविवार को जब श्री उइके ऊपर से किसी तरह की कोई हलचल सुनाई नहीं दी तो उन्होंने ऊपर जाकर देखा। दोनों मां बेटी मृत पड़ी हुई थी जिसके बाद उइके ने सरस्वती थाना में सुचना दी। पुलिस ने दोनों मां बेटी को शवों कब्जे में लिया था और आज उनका पोस्टमार्टम जिसके बाद मामले का खुलासा हो पाएगा। पुलिस फिलहाल परिजनों का बयान दर्ज कर मामले की जांच में जुटी है।
————————–
दिन में तेज गर्मी और रात में बादल छाने से मिल पाएगी थोड़ी राहत
बस्तर, राजनांदगांव में लू का अलर्ट, गर्मी सामान्य से 4 डिग्री ज्यादा
रायपुर। मौसम विभाग ने सोमवार को जगदलपुर (बस्तर) और राजनांदगांव में लू का अलर्ट जारी कर दिया है। दोनों ही शहरों में तापमान सामान्य से 4 डिग्री से ज्यादा हो गया है। नांदगांव और आसपास का इलाका बुरी तरह तप रहा है और तापमान 44.5 डिग्री से ऊपर हो गया है। जगदलपुर में गर्मी हालांकि 41.5 डिग्री है, लेकिन यह सामान्य से 4 डिग्री ज्यादा है, इसलिए लू की संभावना जारी की गई है। छत्तीसगढ़ में बने स्थानीय सिस्टम के कारण राजधानी समेत कुछ इलाकों में हल्के बादल छाए रहे जिसके कारण सोमवार- मंगलवार को उमस बरकरार रह सकती है।
मौसम विभाग ने सोमवार और मंगलवार को भी प्रदेश के अधिकांश मैदानी इलाकों में लू चलने के आसार जताए हैं। राजस्थान की ओर से आ रही बेहद गर्म हवा की चपेट में आने से पूरा प्रदेश भीषण गर्मी की चपेट में है। मैदानी ही नहीं, पहाड़ी इलाकों में भी सुबह 9 बजे से शाम 7 बजे तक गर्म हवा के थपेड़े महसूस किए जा रहे हैं। रविवार को राजधानी रायपुर में दोपहर का तापमान 43.3 डिग्री पर पहुंचा। राजधानी के आउटर यानी माना और आसपास भी तापमान इतना ही है। छत्तीसगढ़ में पिछले तीन-चार दिनों से गर्मी फिर से चरम पर पहुंच गई है। सुबह आठ बजे से ही सूरज की तपिश लोगों को भारी पडऩे लगी है। दोपहर 12 बजे से शाम साढ़े पांच बजे तक तो ऐसी गर्म हवाएं चलती है कि रास्ते पर चलना और बाइक चलाना मुश्किल हो जाता है। मौसम विज्ञानी एचपी चंद्रा ने बताया कि प्रदेश के सभी संभागों में अधिकतम तापमान में विशेष परिवर्तन नहीं हुए है। दुर्ग व बस्तर संभाग में सामान्य से अधिक तथा शेष संभागों में सामान्य रहे। प्रदेश में मौसम शुष्क रहा।आने वाले दिनों में अधिकतम तापमान में और वृद्धि होने की संभावना है। राजधानी में सोमवार को आकाश मुख्यत: साफ रहेगा। अपरान्ह या शाम को आंशिक मेघमय रहने की संभावना है। अधिकतम तापमान 44 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहेगा।
स्थानीय असर से रात में छाए रहेंगे बादल
बिलासपुर में गर्मी 43.5 डिग्री, दुर्ग में 43.8 डिग्री और अंबिकापुर में 40.4 डिग्री रिकार्ड की गई है। मौसम विभाग के मुताबिक मैदानी इलाकों में दिनभर तेज गर्मी पड़ेगी, लेकिन रात में थोड़ी राहत मिल सकती है। वजह ये है कि दिन में गर्मी के कारण स्थानीय असर से शाम को बादल रहेंगे और नमी के कारण तापमान 28-30 डिग्री से अधिक नहीं होगा। विशेषज्ञों के मुताबिक अभी बंगाल की खाड़ी या अरब सागर में कोई सिस्टम नहीं है। इसलिए तीन-चार दिन तक मौसम ऐसा ही रह सकता है, यानी गर्मी जारी रहेगी।
कल से पश्चिमी विक्षोभ देगा दस्तक
मौसम विभाग से मिली जानकारी के अनुसार आने वाले दिनों में 21-22 मई को उत्तर भारत में एक बार फिर पश्चिमी विक्षोभ दस्तक दे रहा है जिसका असर छत्तीसगढ़ में भी दिखाई देगा प्रदेश के कुछ इलाकों में हल्की बारिश की संभावना जताई गई है। अब तक अधिकतम तापमान 45 डिग्री दर्ज किया गया है मई के अंत और जून के शुरुआत में तापमान 45 डिग्री के आस पास बना रहेगा। मौसम विभाग ने 25 मई को लगने वाले नौतपा में तेज गर्मी पडऩे के आसार जताएं है। इस बार नौतपा में सूरज जमकर अपना प्रचंड असर दिखाएगा। हालांकि तेज गर्मी से परेशान लोगों को फिलहाल थोड़ी राहत के आसार हैं। वही मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि इस बार मानसून 18 जून तक प्रदेश में प्रवेश कर सकता है।

Tags
Show More

Related Articles

Close