राजनीती

जोगी ने पार्टी से दो लोगो को निकाला, पाँच कार्यकर्ता खुद छोड़ने को तैयार

विधानसभा चुनाव के बाद अब छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस (जोगी) पार्टी ने अपने मीडिया प्रभारी अब्दूल हमीद हयात और बिलासपुर विधानसभा से पार्टी प्रत्याशी रहे ब्रजेश साहू को पार्टी से निष्कासित कर दिया है। श्री कौशिक ने कहा पार्टी में जिस तरह की गतिविधियां चल रही है उसके कारण हम कभी भी पार्टी छोड़ सकते हैं।

बताया गया है कि कांग्रेस के बहुमत के साथ राज्य की सत्ता में लौटने के बाद पार्टी से अलग हुए नेताओं ने घर वापसी के लिए दिग्गजों से संपर्क शुरू कर दिया है। जोगी कांग्रेस के जिन पांच नेताओं के कांग्रेस में लौटने की चर्चा चल रही है, वे सभी विधानसभा चुनाव में जकांछ के प्रत्याशी रहे। इनमें बिल्हा से सियाराम कौशिक, मुंगेली से चंद्रभान बारमते एवं भाटापारा से चैतराम साहू, बिलासपुर से बृजेश साहू और तखतपुर से संतोष कौशिक के नाम शामिल बताए जाते हैं। इनमें से सिया राम कौशिक और चंद्रभान बारमते पूर्व में विधायक रह चुके हैं। ये सभी विधानसभा के चुनाव में जोगी कांग्रेस के प्रत्याशी रहे और एक को छोड़कर शेष सभी को अच्छे वोट भी मिले।

कांग्रेेस पार्टी के सूत्रों के अनुसार विधानसभा चुनाव की समीक्षा के दौरान अधिकांश हारे हुए प्रत्याशियों के द्वारा जोगी कांग्रेस को हार का कारण बताया गया था। अब इन्हीं नेताओं को वापस कांग्रेस में लेने के पीछे यह कहा जा रहा है कि लोकसभा चुनाव में अपना परफार्मेंस दिखाने के कारण कांग्रेस इन नेताओं को वापस ले सकती है, जिनसे विधानसभा के चुनाव में बिगड़े समीकरण को लोकसभा में सुधारा जा सके है।

सियाराम कौशिक ने बताया कि अब हम लोगों ले जोगी कांग्रेस छोड़ने का मन बना लिया है। कांग्रेस में वापसी को लेकर अभी चर्चा प्रारंभिक चर्चा हुई है। 2 जनवरी को सियाराम कौशिक, चंद्रभान बारमते और संतोष कौशिक दिल्ली जाकर पार्टी के बड़े नेताओं से मिलकर कांग्रेस में वापसी की गुहार लगा चुके हैं। 3 जनवरी को उनकी मुलाकात प्रदेश प्रभारी श्री पीएल पुनिया से हो चुकी है। अभी राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी और प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल से चर्चा करने के बाद आगे की रणनीति तय करने की बात कही है। जोगी की पार्टी छोड़ने के कारणों के बारे में उन्होंने कहा कि जिस पार्टी में सम्मान न मिले वहां पर नहीं रहना चाहिए। कांग्रेस में हम फिर से इसीलिए वापस आना चाहते हैं। उन्होंने कहा प्रदेश प्रभारी और प्रांतीय प्रभारी से अनुमित के बाद वापस आएंगे।

इधर पार्टी से निष्कासित जोगी कांग्रेस के मीडिया प्रभारी अब्दूल हमीद हयात ने कहा कि जोगी जी ने मुझे पार्टी से निष्कासित कर दिया है। पार्टी में काफी अराजकता के कारण लोगों में काफी नाराजगी है। काफी लोग पार्टी छोड़ने का मन बना चुके हैं। उन्होंने कहा कि मै तो जाेगी के काफी करीब रहा, उनके नाक के बाद की तरह ही था, ज्यादा बढ़ा तो उन्होंने काट दिया। आगे की रणनीति के बारे में श्री हयात ने कहा कि अच्छा प्रस्ताव आएगा तो अपनी मातृ संस्स्था कांग्रेस में फिर से वापस आएंगे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस में हमें पहले भी काफी सम्मान मिला है। विधानसभा चुनाव के बाद अब छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस (जोगी) पार्टी ने अपने मीडिया प्रभारी अब्दूल हमीद हयात और बिलासपुर विधानसभा से पार्टी प्रत्याशी रहे ब्रजेश साहू को पार्टी से निष्कासित कर दिया है। श्री कौशिक ने कहा पार्टी में जिस तरह की गतिविधियां चल रही है उसके कारण हम कभी भी पार्टी छोड़ सकते हैं।

बताया गया है कि कांग्रेस के बहुमत के साथ राज्य की सत्ता में लौटने के बाद पार्टी से अलग हुए नेताओं ने घर वापसी के लिए दिग्गजों से संपर्क शुरू कर दिया है। जोगी कांग्रेस के जिन पांच नेताओं के कांग्रेस में लौटने की चर्चा चल रही है, वे सभी विधानसभा चुनाव में जकांछ के प्रत्याशी रहे। इनमें बिल्हा से सियाराम कौशिक, मुंगेली से चंद्रभान बारमते एवं भाटापारा से चैतराम साहू, बिलासपुर से बृजेश साहू और तखतपुर से संतोष कौशिक के नाम शामिल बताए जाते हैं। इनमें से सिया राम कौशिक और चंद्रभान बारमते पूर्व में विधायक रह चुके हैं। ये सभी विधानसभा के चुनाव में जोगी कांग्रेस के प्रत्याशी रहे और एक को छोड़कर शेष सभी को अच्छे वोट भी मिले।

कांग्रेेस पार्टी के सूत्रों के अनुसार विधानसभा चुनाव की समीक्षा के दौरान अधिकांश हारे हुए प्रत्याशियों के द्वारा जोगी कांग्रेस को हार का कारण बताया गया था। अब इन्हीं नेताओं को वापस कांग्रेस में लेने के पीछे यह कहा जा रहा है कि लोकसभा चुनाव में अपना परफार्मेंस दिखाने के कारण कांग्रेस इन नेताओं को वापस ले सकती है, जिनसे विधानसभा के चुनाव में बिगड़े समीकरण को लोकसभा में सुधारा जा सके है।

सियाराम कौशिक ने बताया कि अब हम लोगों ले जोगी कांग्रेस छोड़ने का मन बना लिया है। कांग्रेस में वापसी को लेकर अभी चर्चा प्रारंभिक चर्चा हुई है। 2 जनवरी को सियाराम कौशिक, चंद्रभान बारमते और संतोष कौशिक दिल्ली जाकर पार्टी के बड़े नेताओं से मिलकर कांग्रेस में वापसी की गुहार लगा चुके हैं। 3 जनवरी को उनकी मुलाकात प्रदेश प्रभारी श्री पीएल पुनिया से हो चुकी है। अभी राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी और प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल से चर्चा करने के बाद आगे की रणनीति तय करने की बात कही है। जोगी की पार्टी छोड़ने के कारणों के बारे में उन्होंने कहा कि जिस पार्टी में सम्मान न मिले वहां पर नहीं रहना चाहिए। कांग्रेस में हम फिर से इसीलिए वापस आना चाहते हैं। उन्होंने कहा प्रदेश प्रभारी और प्रांतीय प्रभारी से अनुमित के बाद वापस आएंगे।

इधर पार्टी से निष्कासित जोगी कांग्रेस के मीडिया प्रभारी अब्दूल हमीद हयात ने कहा कि जोगी जी ने मुझे पार्टी से निष्कासित कर दिया है। पार्टी में काफी अराजकता के कारण लोगों में काफी नाराजगी है। काफी लोग पार्टी छोड़ने का मन बना चुके हैं। उन्होंने कहा कि मै तो जाेगी के काफी करीब रहा, उनके नाक के बाद की तरह ही था, ज्यादा बढ़ा तो उन्होंने काट दिया। आगे की रणनीति के बारे में श्री हयात ने कहा कि अच्छा प्रस्ताव आएगा तो अपनी मातृ संस्स्था कांग्रेस में फिर से वापस आएंगे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस में हमें पहले भी काफी सम्मान मिला है।

Tags
Show More

Related Articles

Close