नेशनल

केदारनाथ : सर्च अभियान के दौरान मिले 21 नरकंकाल

केदारनाथ धाम जाने वाले पुराने रामबाड़ा रूट और इससे लगे क्षेत्र में सर्वाधिक कंकाल मिले।

देहरादून। केदारनाथ आपदा के पांच साल बाद वहां सर्च ऑपरेशन के लिए गई आइपीएस अफसरों की टीम दो दिन बाद दून लौट आई। इस दौरान टीम को दो ट्रैक पर 21 नर कंकाल मिले।
इनका डीएनए सैंपल लेने के बाद मौके पर ही अंतिम संस्कार कर दिया गया। डीआइजी अजय रौतेला ने बताया कि सोमवार को टीम अपनी रिपोर्ट पुलिस मुख्यालय को सौंपेगी।
प्रत्येक टीम अपने ट्रैक पर चलाए गए ऑपरेशन की रिपोर्ट देगी। हाई कोर्ट के आदेश पर पुलिस मुख्यालय ने 11 अक्टूबर को पांच आइपीएस अफसरों के नेतृत्व में पुलिस टीम केदारनाथ में नर कंकालों की तलाश के लिए भेजी थी।
टीम ने पांच अलग-अलग रूटों पर आपदा में मारे गए लोगों के कंकालों की तलाश की। अभियान के दौरान टीम को केदारनाथ धाम जाने वाले पुराने रामबाड़ा रूट और इससे लगे क्षेत्र में सर्वाधिक कंकाल मिले।
यहां टीम ने करीब 18 खोपड़ियां बरामद कीं। इसी तरह दूसरी टीम ने त्रियुगीनारायण रूट पर तीन नर कंकाल बरामद किए।
वासुकीताल, चैमासी और केदारनाथ मंदिर से लगे रूट पर गई टीम को सर्च के दौरान कुछ कपड़े और जूते-चप्पल मिले। जबकि, रामबाड़ा और त्रियुगीनारायण ट्रैक के आसपास कई निर्जन स्थानों पर 2013 की आपदा में लापता हुए लोगों के हाथ, पैर, कंधे और पसलियों की हड्डियां मिलीं।
इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि इस क्षेत्र में मरने वालों की संख्या सबसे ज्यादा रही होगी। इस क्षेत्र में सर्च अभियान के दौरान पहले भी नर कंकाल बरामद किए जा चुके हैं।
पुलिस टीम में एसपी चमोली तृप्ति भट्ट, एसपी रुद्रप्रयाग प्रहलाद नारायण मीणा, एसपी एसटीएफ अजय सिंह, एसपी ट्रैफिक दून लोकेश्वर सिंह और एसपी ट्रैफिक हरिद्वार मंजूनाथ टीसी समेत एसडीआरएफ और सिविल पुलिस के 35 जवान शामिल थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button