छत्तीसगढ़

अटल जी के अस्थि कलश पर हुआ विवाद थाना पहुंचा मामला

रायपुर। अटल जी के अस्थि कलश पर कांग्रेस व भाजपा के बीच राजनीतिक उठापटक और तेज हो गई है। आज इस मामले में भाजपा नेताओं ने मौदहापारा थाने में लिखित में शिकायत दर्ज करायी है। कल दोपहर भाजपा दफ्तर में हुए हंगामे मामले में भाजपा प्रदेश प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव, छगन मूंदड़ा और विधि विभाग के नरेश गुप्ता के साथ बड़ी संख्या में नेता कार्यकर्ता मौदहापारा थाना पहुंचे और वहां इस मामले में FIR दर्ज कराने की मांग की।
भाजपा नेताओं का कहना था इस पूरे प्रकरण में श्रीमती करूणा शुक्ला और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल के साथ कांग्रेस के और बड़े नेता संलग्न थे जिनके खिलाफ एफआईआर दर्ज हो।
भाजपा ने कहा कि जिस समय कांग्रेस ने उत्पात मचाया , भाजपा दफ्तर में महत्वपूर्ण बैठक हो रही थी। जिसमें मुख्यमंत्री रमन सिंह सहित भाजपा की कई बड़ी हस्तियां मौजूद थी।
उल्लेखनीय है कि कल कांग्रेस ने भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के अस्थि कलश के अपमान का आरोप लगाते हुए कलश को बोरे में बंद करके रखने का आरोप लगाया था। इस मामले में ट्विट कर भूपेश बघेल ने कहा कि अगर भाजपा अटल जी के अस्थि कलश का सम्मान नहीं कर सकती है, तो कलश उन्हें सौंप दे, वो उनके अस्थि का विसर्जन सम्मान के साथ करेंगे। बाद में इसी मामले में कांग्रेस नेता करुणा शुक्ला और भूपेश बघेल के साथ कई कांग्रेसी कार्यकर्ता कलश मांगने भाजपा दफ्तर पहुंच गये । जमकर नारेबाजी हुई। प्रदर्शन के दौरान भाजपा और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच हाथापाई तक हुई।
हालांकि बाद में भूपेश बघेल, करूणा शुक्ला सहित कांग्रेस के कई कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। इस मामले को लेकर पूरे दिन जमकर हंगामा हुआ और ट्विटर से लेकर बयानों में आरोपों का दौर चलता रहा। वहीं धरमलाल कौशिक ने प्रेस कांफ्रेंस कर पूरे आरोपों को सिरे से खारिज किया था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button