chhattisgarhछत्तीसगढ़राजनीती

एसईसीएल कर्मचारी ने की आत्महत्या, घर के अंदर स्टोर रूम में बेल्ट से लटकती मिली लाश

एसईसीएल कर्मचारी ने घर के स्टोर रूम को में फांसी लगाकर जान दे दी। अपने सुसाइड नोट में अपनी पत्नी से बेपनाह प्यार का इजहार करते हुए दोनों बेटियों को अंतिम संस्कार के लिए कहा । घटना छाल थाना क्षेत्र की है। जानकारी के मुताबिक छाल के बाजार के सामने अर्जुन पांडेय (50 ) अपने माता पिता , बीवी और दो बेटियों के साथ निवासरत है। वे एसईसीएल लात खदान में इलेक्ट्रिकल के पद पर पदस्थ थे। शनिवार की सुबह 6 बजे जब स्वजन अर्जुन के लिए चाय लेकर गए तो वे कमरे में नहीं मिले तो उन्हें लगा कि वे मार्निग वाक पर निकले हैं।

काफी देर तक अर्जुन के घर न आने पर स्वजनों ने उनकी जानकारी लेने की कोशिश की। इस दौरान उनके स्वजन उसके बेडरूम से लगे स्टोर रूम को अंदर से बंद देखा। जिस पर उन्हें अनहोनी की आशंका हुई और जब दरवाजे के भीतर हाथ डालकर सिटकनी खोला तो वहां का नजारा देख उनके होश उड़ गए। अर्जुन बेल्ट के बने फंदे में लटक रहा था। ऐसे में बदहवास परिवार ने एसईसीएल कर्मी के जिंदा होने की उम्मीद लेकर किसी तरह से उन्हें बेल्ट काटकर बाहर निकाले और आनन फानन में समीपस्थ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लेकर गए । जहां चिकित्सकों ने प्राथमिक जांच के पश्चात उन्हें मृत घोषित कर दिया। घटना की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने जब मृतक के जेब की तलाशी ली तो एक सुसाइड नोट बरामद हुआ । इसमें अर्जुन ने अपनी बीवी को गुड्डी नाम से संबोधित करते हुए कहा कि वो उससे बहुत प्यार करता है । वहीं दोनों बेटियों को बेटे की तरह अंतिम संस्कार करते हुए अस्थियों को चंद्रपुर में विसर्जित करने की बात कही है। सुसाइड नोट व स्वजनों के बयान से भी पुलिस इस बात का पता नहीं लगा सकी कि आखिर एसईसीएल कर्मचारी ने आत्महत्या जैसे आत्मघाती कदम क्यो उठाया। जानकारी के अनुसार एसईसीएल कर्मचारी पारिवारिक तनाव में रहते थे और इसका जिक्र वे मार्निग वाक के दौरान अपने साथियों से भी कर चुके हैं । छाल पुलिस मर्ग कायम कर मामले की जांच में जुटी हुई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button